सट्टा बाजार का PM नरेंद्र मोदी पर 20 पैसा तो राहुल गांधी पर 25 रुपये का रेट


लोकसभा चुनाव में महज कुछ हफ्ते बाकी हैं. इस सियासी सरगर्मी के बीच आजतक की टीम दुनिया में सट्टेबाजी के लिए मशहूर राजस्थान के फलोदी शहर पहुंची. जोधपुर से लगभग 160 किलोमीटर की दूरी पर बसा ये छोटा शहर फलोदी पूरी दुनिया में सट्टेबाजी के लिए मशहूर है. किस साल कितनी बारिश होगी से लेकर, किस राज्य में किसकी सरकार बनेगी यहां हर बात पर बोली लगती है. सट्टा बाजार से महज कुछ कदमों की दूरी पर पुलिस थाना है, बावजूद इसके यह काला बाजार बिना रोकटोक के फल-फूल रहा है.

इस बाजार में हर किसी को संदेह की नजर से देखा जाता है. यहां तक कि अनजान लोगों का यहां आना भी मना है. विधानसभा चुनाव से लेकर कौन बनेगा प्रधानमंत्री, इस बाजार में इस पर भी बोली लगाई जाती है.

किसी सरकारी तंत्र की तरह इस सट्टा बाजार का भी अपना इंटेलिजेंस नेटवर्क है. नाम सार्वजनिक न करने की शर्त पर आज तक से बात करते हुए सटोरिए ने बताया कि कैसे देश के हर राज्य में बैठा इनका नेटवर्क डाटा इकट्ठा करता है जिससे ये सटोरिए विश्लेषण करते हैं और तब भाव तय किया जाता है. 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर इस सट्टा बाजार में भी कयास लगाए जा रहे हैं.

फलोदी सट्टा बाजार का अनुमान है 2019 में मोदी एक बार फिर प्रधानमंत्री बनेंगे और एनडीए बहुमत का आंकड़ा पार करने में कामयाब हो जाएगी. सटोरियों के मुताबिक बीजेपी को पहले 195 से 198 सीटें दी जा रही थी लेकिन एयर स्ट्राइक के बाद बीजेपी की सीटें अब 207 तक अकेले बढ़ गई हैं जबकि एनडीए 300 से 302 सीटें लाने में कामयाब हो सकता है.

सटोरियों के मुताबिक राजस्थान में मोदी के खिलाफ कोई नाराजगी नहीं है इसलिए यहां 25 में से 20 से 22 सीटें बीजेपी राजस्थान में जीत सकती है जबकि उसे तीन से पांच सीटों का नुकसान भी उठाना पड़ सकता है. उत्तर प्रदेश में सटोरिए बीजेपी को 55 सीटें दे रहे हैं जबकि उनका मानना है कि बिहार में महागठबंधन बीजेपी पर हावी हो सकता है.
सट्टा बाजार के मौजूदा सत्र में बीजेपी

Post a Comment

0 Comments