370 पर अकेला पड़ा पाकिस्तान, इमरान को नहीं मिला मुस्लिम देशों का साथ! जानिए मामला

370 पर अकेला पड़ा पाकिस्तान, इमरान को नहीं मिला मुस्लिम देशों का साथ!


भारत सरकार ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधान को खत्म कर दिया. भारत के इस कदम पर सबसे ज्यादा आपत्ति पाकिस्तान ने जताई. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान मुस्लिम देशों और अपने मित्र देशों से लगातार गुहार लगा रहे हैं लेकिन फिलहाल वह अपने इस विरोध में अलग-थलग पड़ गए हैं.

भारत के कदम के खिलाफ पाकिस्तान को दुनिया भर में कहीं से भी मदद नहीं मिल रही है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को बयान जारी कर कहा, भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर अंतरराष्ट्रीय तौर पर विवादित क्षेत्र है. इस अंतरराष्ट्रीय विवाद में एक पक्ष होने के नाते पाकिस्तान इस अनुचित कदम का विरोध करने के लिए हर विकल्प का इस्तेमाल करेगा.
अमेरिका ने भी अनुच्छेद-370 खत्म किए जाने के भारत सरकार के फैसले को आंतरिक मामला माना है. यूएस विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मोर्गन ओर्टागस ने एक बयान में कहा, हम जम्मू-कश्मीर के घटनाक्रमों पर करीब से नजर बनाए हुए हैं. हम इस बात का संज्ञान लेते हैं कि जम्मू-कश्मीर का संवैधानिक दर्जा बदलने के फैसले को भारत ने सख्त तौर पर अपना आंतरिक मामला करार दिया है. उन्होंने दोनों पक्षों से सीमा पर शांति और स्थिरता बनाए रखने की अपील भी की.
पाकिस्तान को अपनी भारत विरोधी मुहिम में केवल एकमात्र देश तुर्की का साथ मिला है. पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैय्यप एर्दोगान को सोमवार को फोन कर मदद मांगी और उन्होंने भारतीय अधिकृत कश्मीर (IoK) में बदलते हालात पर पाकिस्तान को मदद देने का आश्वासन दिया.

Post a Comment

0 Comments